PF ; EPF ; Corona Crisis ; Coronavirus ; PF Withdraw ; COVID-19 ; Withdraw money from provident fund only when there is a lot of need, you will get 23 lakh rupees at the time of retirement on withdrawal of Rs 2 lakh. | बहुत ज्यादा जरूरत होने पर ही PF अकाउंट से निकालें पैसा, 2 लाख रुपए निकालने पर रिटायरमेंट फंड को होगा 23 लाख रुपए का नुकसान

  • Hindi News
  • Utility
  • PF ; EPF ; Corona Crisis ; Coronavirus ; PF Withdraw ; COVID 19 ; Withdraw Money From Provident Fund Only When There Is A Lot Of Need, You Will Get 23 Lakh Rupees At The Time Of Retirement On Withdrawal Of Rs 2 Lakh.

नई दिल्ली3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

जब तक बहुत जरूरी न होने पर पीएफ निकलने से बचना चाहिए

  • PF पर अभी 8.5 फीसदी की दर से ब्याज मिल रहा है
  • 1 लाख रुपए निकालने पर रिटायरमेंट के समय साढ़े 11 लाख रुपए कम मिलेंगे

कोरोना क्राइसिस के लोगों को आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ रहा है। इस समस्या से निपटने के लोग अपने PF फंड का सहारा ले रहे हैं। अगर आप भी PF फंड से पैसा निकालने का प्लान बना रहे हैं तो इसके लिए आपका यह जानना बहुत जरूरी है कि यहां से पैसा निकलने पर आपके रिटायरमेंट फंड को कितना नुकसान होगा।

आप के फंड पर कितना असर पड़ेगा
अनुमानित कैलकुलेशन के मुताबिक, अगर आपके रिटायरमेंट में 30 साल का समय बाकी है और अभी आप पीएफ अकाउंट से 1 लाख रुपए निकालते हैं तो ​इससे आपके रिटायरमेंट फंड पर 11.55 लाख रुपए का असर पड़ेगा। यहां जानें कितना पैसा निकालने पर आपने रिटायरमेंट फंड पर कितना असर पडेगा।

कितने पैसे निकालने पर20 साल बाद कितना कम मिलेगा (रु)30 साल बाद कितना कम मिलेगा (रु)
50 हजार2 लाख 5 हजार5 लाख 27 हजार
1 लाख5 लाख 11 हजार11 लाख 55 हजार
2 लाख10 लाख 22 हजार23 लाख 11 हजार
3 लाख15 लाख 33 हजार34 लाख 67 हजार

नोट : ये टेबल एक मोटे अनुमान के हिसाब से दी गई है क्योंकि पीएफ पर मिलने वाले ब्याज की समीक्षा हर 3 महीने में होती है। इसके अलावा यहां जो टेबल बताई गई है उसमें ब्याज की गणना सालाना हिसाब से की गई गई।

जब तक बहुत जरूरी न हो PF फंड से न निकालें पैसा
मनी मैनेजमेंट एक्सपर्ट का मानना है कि जब तक बहुत जरूरी न होने पर पीएफ निकलने से बचना चाहिए। इस पर 8.5 फीसदी की दर से ब्याज मिल रहा है। इस समय जितनी बड़ी रकम ईपीएफ से निकाली जाएगी, रिटायरमेंट फंड पर उतना ही बड़ा असर पड़ेगा।

कितना कटता है पीएफ?
नियमों के मुताबिक, सैलरी पाने वाले लोगों को अपने वेतन और महंगाई भत्ते की 12 फीसदी रकम पीएफ खाते में योगदान करना अनिवार्य होता है। नियोक्ता भी कर्मचारी के पीएफ अकाउंट में इतना ही योगदान देता है। इस रकम को रिटायरमेंट के बाद ही निकाला जाता है। हालांकि, रिटायरमेंट से पहले भी पीएफ निकल सकते हैं इसके लिए कुछ शर्तें रहती हैं। पीएफ अकाउंट में योगदान किए गए अंश पर कम्पाउंडिंग के आधार पर ब्याज मिलता है।

पिछले 4 महीने में निकाले 30,000 करोड़ रुपए

कोरोना महामारी के कारण जारी लॉकडाउन की वजह से लोगों को आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ रहा है। इसी का नतीजा है कि पिछले 4 महीनों में लोगों ने पीएफ से कुल 30,000 करोड़ रुपए निकाले हैं। पैसों की परेशानी से जूझ रहे लोग PF से पैसा निकाल कर अपनी जरूरतों को पूरा कर रहे हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक अप्रैल से जुलाई तक 80 लाख सब्सक्राइबर्स ने EPFO से पैसा निकाला है।

0

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *