In a year, the Pharma, Gold and Gold ETFs made investors rich, if they had invested in any fund, the returns would have been 35 to 57 percent. | एक साल में फार्मा, गोल्ड और गोल्ड ईटीएफ ने बनाया निवेशकों को मालामाल, किसी भी फंड में निवेश किया होता तो 35 से लेकर 57 प्रतिशत तक का मिलता रिटर्न

  • Hindi News
  • Business
  • In A Year, The Pharma, Gold And Gold ETFs Made Investors Rich, If They Had Invested In Any Fund, The Returns Would Have Been 35 To 57 Percent.

मुंबई22 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • फार्मा, गोल्ड और गोल्ड ईटीएफ फंड ने शानदार रिटर्न निवेशकों को दिया है
  • अब यह सभी काफी महंगे स्तर पर पहुंच गए हैं और रिटर्न कम मिलने की उम्मीद है

अगर आप इस उम्मीद में बैठे हैं कि आने वाले समय में निवेश करेंगे। या आप यह उम्मीद कर रहे हैं कि ज्यादा रिटर्न जब मिलेगा तब निवेश करेंगे तो आप यह समझिए कि फिलहाल के लिए यह मौका हाथ से निकल चुका है। चाहे बात शेयर बाजार की हो, गोल्ड फंड की हो, गोल्ड ईटीएफ की हो या फिर फार्मा फंड की बात हो। सभी ने अब इतना ज्यादा रिटर्न दिया है कि उसमें ज्यादा बढ़ने की उम्मीद भी नहीं है।

फार्मा सेक्टर ने दिया 80 प्रतिशत का रिटर्न

उदाहरण के तौर पर सोने को ही ले लीजिए। पिछले दो महीनों में इसने ऐसी रफ्तार पकड़ी की लगा कि यह 80 हजार प्रति दस ग्राम पहुंच जाएगा। लेकिन दो ही दिन में सोने की पूरी चमक गायब हो गई। पिछले एक साल में गोल्ड ईटीएफ फंड, गोल्ड फंड और फार्मा फंड का रिटर्न देखें तो इन्होंने बेहतरीन प्रदर्शन किया है। फार्मा सेक्टर ने तो 80 प्रतिशत से ज्यादा रिटर्न दिया है।

बीएसई हेल्थकेयर सेक्टर ने 51.12 प्रतिशत का रिटर्न दिया

आंकड़े बताते हैं कि आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल फार्मा फंड ने एक साल में 57.85 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। बेंचमार्क एसएंडपी बीएसई हेल्थकेयर ने 51.12 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। निप्पोन इंडिया के फार्मा फंड ने 56.6 प्रतिशत जबकि एसबीआई हेल्थकेयर फंड ने 56.32 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। इसी तरह बिरला सन लाइफ फार्मा एंड हेल्थकेयर फंड ने एक साल में 41.67 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। आईडीबीआई हेल्थकेयर फंड ने 53.63 प्रतिशत का रिटर्न दिया है।

आईप्रू फार्मा फंड ने 47 प्रतिशत का लाभ दिया

इस कैलेंडर साल यानी जनवरी से लेकर अब तक की बात करें तो बिरला के फार्मा फंड ने 35.96 प्रतिशत का लाभ निवेशकों को दिया है। इसी दौरान आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल के फार्मा फंड ने 47.29 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। आईडीबीआई हेल्थकेयर ने इस साल में अब तक 42 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। इसी तरह गोल्ड फंड की बात करें तो इनवेस्को इंडिया गोल्ड फंड ने एक साल में 41.89 प्रतिशत का रिटर्न दिया है।

एचडीएफसी गोल्ड फंड ने 39.30 प्रतिशत का रिटर्न दिया

एचडीएफसी गोल्ड फंड ने 39.30 प्रतिशत, आदित्य बिरला सन लाइफ गोल्ड फंड ने एक साल में 35.45 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल गोल्ड सेविंग फंड ने 36.18 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। एक्सिस गोल्ड फंड ने 39.40 प्रतिशत का रिटर्न दिया है जबकि कोटक म्यूचुअल फंड के गोल्ड फंड ने 37.67 प्रतिशत का रिटर्न दिया है।

ईटीएफ फंड ने भी दिया बेहतर लाभ

ईटीएफ फंड की बात करें को कोटक म्यूचुअल फंड के ईटीएफ ने 36.44 प्रतिशत का रिटर्न एक साल में दिया है। आईडीबीआई के ईटीएफ ने इसी अवधि में 35.66 प्रतिशत का रिटर्न दिया है।आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल के ईटीएफ फंड ने 35.32, यूटीआई गोल्ड ईटीएफ ने 35.76 और निप्पोन इंडिया ईटीएफ ने 35.89 प्रतिशत का लाभ निवेशकों को दिया है। एसबीआई एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ईटीएफ) ने 36 प्रतिशत का रिटर्न दिया है तो एचडीएफसी गोल्ड ईटीएफ फंड ने 35.41 प्रतिशत का लाभ दिया है

एक लाख का निवेश 1.57 लाख हो गया

इस तरह से देखा जाए तो शेयर बाजार, सोना, चांदी और फार्मा सेक्टर के फंड ने बेहतरीन रिटर्न 12 अगस्त 2019 से 12 अगस्त 2020 के दौरान दिया है। इस दौरान जिस निवेशक ने एक लाख रुपए लगाए होंगे फार्मा में वह 1.57 लाख रुपए, जबकि गोल्ड फंड में वह 1.35 लाख रुपए और गोल्ड ईटीएफ में वह 1.35 लाख रुपए हो गए हैं। हालांकि अब यह सभी काफी ऊंचे मूल्य पर कारोबार कर रहे हैं। इसलिए यहां से इस तरह का रिटर्न मिलना मुश्किल है।

0

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *