DGCA asks SpiceJet to withdraw sale offer for discounted tickets | 899 रुपए वाले सस्ते टिकट को नहीं बेच पाएगी स्पाइसजेट, रेगुलेटर ने कहा किराया तय करने का अधिकार सरकार के पास

नई दिल्ली6 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

डीजीसीए ने सोमवार दोपहर को सरकार के किराए सीमा तय करने के आदेश पर ध्यान दिलाते हुए स्पाइसजेट को उसकी सेल रोकने के निर्देश दिए।

  • स्पाइसजेट ने सोमवार को पांच दिन की 1 + 1 सेल की घोषणा की थी
  • कंपनी यात्रियों को टिकट खरीदने पर एक फ्लाइट वाउचर मुफ्त देने का भी ऐलान किया था

स्पाइसजेट अब 899 रुपए वाले सस्ते टिकटों की बिक्री नहीं कर पाएगी। नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने स्पाइसजेट को सोमवार से शुरू हुई उसकी पांच दिन की टिकट सेल रोकने के निर्देश दिए हैं। इसकी वजह देश में घरेलू उड़ानों को 25 मई के बाद फिर से शुरू किए जाने के बाद से सरकार का हवाई यात्रा किराए पर सीमा तय करना है।

स्पाइसजेट ने सोमवार को पांच दिन की 1 + 1 सेल की घोषणा की थी। बता दें कि इसके तहत कंपनी ने एकतरफा घरेलू यात्रा के लिए 899 रुपए के न्यूनतम आधार किराए पर टिकट की पेशकश की है। साथ ही कंपनी यात्रियों को टिकट खरीदने पर एक फ्लाइट वाउचर मुफ्त देने का भी ऐलान किया था।

डीजीसीए के निर्देश के खिलाफ है स्पाइसजेट का सेल

डीजीसीए के निर्देश के खिलाफ है स्पाइसजेट का सेल कंपनी ने बताया कि फ्लाइट वाउचर की कीमत बुक किए गए टिकट के बेस किराए के जितनी होगी। ग्राहक जब भी इस सेल ऑफर के तहत टिकट की बुकिंग करेगा उसे अधिकतम 2,000 रुपए प्रति बुकिंग का वाउचर मिलेगा। इस वाउचर का उपयोग भविष्य में टिकट बुकिंग के लिए किया जा सकता है। यह वाउचर 15 अक्टूबर 2020 तक वैध रहेगा।

डीजीसीए ने सोमवार दोपहर को सरकार के किराया सीमा तय करने के आदेश पर ध्यान दिलाते हुए स्पाइसजेट को उसकी सेल रोकने के निर्देश दिए। सरकार ने अपने आदेश में सबसे कम दूरी की उड़ानों के लिए न्यूनतम 2,000 रुपए का किराया तय किया है। इस बारे में स्पाइसजेट के प्रवक्ता ने कहा है कि हम पहले ही डीजीसीए के दिशानिर्देशों का पालन कर रहे हैं।

डीजीसीए ने सात कैटेगरी में तय किया था किराया

नागर विमानन मंत्रालय ने देश में 25 मई से हवाई यात्रा को शुरू करने से पहले 21 मई को एयरलाइंस के लिए घरेलू हवाई यात्रा किराए की सीमा तय करने का आदेश जारी किया था। इसके लिए सात कैटेगरी बनाई गई थी। किराया सीमित रखने की समय सीमा पहले 24 अगस्त तक तय की गयी थी जिसे बाद में बढ़ाकर 24 नवंबर कर दिया गया। इसके तहत पहली कैटेगरी में 40 मिनट या उससे कम समय की उड़ानों को रखा गया।

न्यूनतम किराया 2,000 रुपए तय किया गया था

इसके लिए न्यूनतम किराया 2,000 रुपए और अधिकतम 6,000 रुपए तय किया गया। इसी तरह 40 से 60 मिनट की उड़ान के लिए 2,500-7,500 रुपए, 60-90 मिनट के लिए 3,000-9,000 रुपए, 90-120 मिनट के लिए 3,500 रुपए-10,000 रुपए, 120-150 मिनट के लिए 4,500-13,000 रुपए, 150-180 मिनट के लिए 5,500-15,700 रुपए और 180-210 मिनट की उड़ान के लिए 6,500 से 18,600 रुपए की सीमा तय की गयी।

शानदार फ्लाई:चुनिंदा रूट पर 899 रुपए में हवाई सफर का मौका, स्पाइसजेट ने लांन्च किया 1 + 1 ऑफर, फ्री में मिलेगा फ्लाइट वाउचर

0

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *