Auto Sales Analysis July 2020| Mid-size SUV sold highest in July, 87% increase in sales; 16 Toyota Welfare of 84 lakh sold despite recession | जुलाई में सबसे ज्यादा बिकी मिड-साइज SUV, बिक्री में हुआ 87 फीसदी का इजाफा; मंदी के बावजूद बिक गई 84 लाख रुपए की 16 टोयोटा वेलफायर

  • Hindi News
  • Tech auto
  • Auto Sales Analysis July 2020| Mid size SUV Sold Highest In July, 87% Increase In Sales; 16 Toyota Welfare Of 84 Lakh Sold Despite Recession

नई दिल्ली24 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

हुंडई क्रेटा ने 75 फीसदी की वृद्धि के साथ जुलाई 2020 में 11,549 यूनिट्स बिक्री की, पिछले साल जुलाई में इसकी 6,585 यूनिट्स बिकी थीं

  • होंडा जल्द ही जैज का बीएस 6-कंप्लेंट वर्जन लॉन्च करना वाली है, जुलाई में कंपनी एक भी जैज नहीं बेच पाई
  • देश में सबसे सस्ती MPV डटसन गो+ जुलाई में कोई खास कमाल नहीं कर पाई, इसकी सिर्फ 57 यूनिट बिकी

ऑटो इंडस्ट्री ने पिछले महीने बड़े पैमाने पर रिकवरी की। सबसे ज्यादा भरोसा उपभोक्ताओं ने मिड-साइज एसयूवी पर किया। पिछले साल जुलाई में सेगमेंट की 15,208 यूनिट बिकी थीं, जबकि इस साल जुलाई में कोरोना संकट के बावजूद सेगमेंट में 28509 यूनिट्स बिकीं, यानी साल-दर-साल 87 फीसदी की ग्रोथ देखने को मिली। इसका श्रेय हुंडई क्रेटा को भी जाता है, जिसमें 75 फीसदी की वृद्धि के साथ जुलाई 2020 में 11,549 यूनिट्स बिक्री की, पिछले साल जुलाई में इसकी 6,585 यूनिट्स बिकी थीं। मार्च 2020 में लॉन्चिंग के बाद से इस पांच सीटर एसयूवी को 55,000 से ज्यादा बुकिंग्स मिल गई थीं।

जुलाई 2020 में सबसे ज्यादा कुल 46,102 यूनिट्स कॉम्पैक्ट हैचबैक सेगमेंट में बिकी, बावजूद इसके सेगमेंट की साल-दर-साल ग्रोथ में 11 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई, क्योंकि पिछले साल इसी महीने सेगमेंट में 51741 यूनिट्स की बिक्री दर्ज की थी। इसी तरह कॉम्पैक्ट एसयूवी, कॉम्पैक्ट सेडान, एग्जीक्यूटिव सेडान, प्रीमियम एसयूवी, प्रीमियम सेडान और लक्जरी सेडान सेगमेंट में भी नकारात्मक वृद्धि दर्ज की गई।

एंट्री हैचबैक सेगमेंट में 40 फीसदी की बढ़त, प्रीमियम सेडान सेगमेंट में 79 फीसदी गिरा

  • एंट्री-लेवल हैचबैक सेगमेंट में भी जुलाई 2020 में बिक्री में भारी बढ़ोतरी दर्ज की। सेगमेंट में 40 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ 20,865 यूनिट्स की बिक्री हुई, जबकि पिछले साल यह आंकड़ा 14,910 यूनिट पर सीमित था। प्रीमियम हैचबैक और MUV सेगमेंट में भी क्रमश: 1 फीसदी और 3 फीसदी की बढ़त दर्ज की गई। हालांकि सब-4-मीटर एसयूवी सेगमेंट ने पिछले महीने बिक्री में 13 फीसदी की गिरावट का सामना किया।
  • आने वाले महीनों में, कॉम्पैक्ट एसयूवी सेगमेंट में कई सारे बदलाव देखने को मिलेंगे क्योंकि किआ सॉनेट को लॉन्च करेगी, रेनो संभवतः इस साल के अंत में किगर पेश करेगी, जबकि निसान मैग्नाइट अगले साल की शुरुआत में शोरूम में एंट्री करेगी। इसके अलावा सिट्रॉइन भी अपनी C21 कॉम्पैक्ट एसयूवी पेश करने की तैयारी में है। जीप की छोटी एसयूवी भी कुछ वर्षों में आ सकती है।

प्रीमियम हैचबैक सेगमेंट में बलेनो सबसे आगे, जैज को नहीं मिला एक भी ग्राहक

  • प्रीमियम हैचबैक सेगमेंट देश का सबसे लोकप्रिय पैसेंजर व्हीकल सेगमेंट में से एक है। लेकिन कुछ अन्य सेगमेंट की तरह प्रतिकूल आर्थिक परिस्थितियों के कारण हाल के दिनों में इसकी गति कम हो गई है। हालांकि, यह सेगमेंट तेजी से फिर से गति प्राप्त कर रहा है, जो इस बात से स्पष्ट होता है कि इसने जुलाई 2020 में बिक्री में 1 फीसदी की सालाना वृद्धि दर्ज की, जो पिछले साल के इसी महीने की तुलना में है।
  • मारुति सुजुकी बलेनो ने पिछले महीने देश में सबसे ज्यादा बिकने वाली प्रीमियम हैचबैक के रूप में अपना स्थान फिर से हासिल कर लिया, क्योंकि कंपनी कार की 11,575 यूनिट बेचने में सफल रही। जुलाई 2020 में बिक्री के मामले में साल-दर-साल वृद्धि दर्ज करने के लिए बलेनो इस सूची में एकमात्र कार थी, क्योंकि जुलाई 2019 में मारुति ने हैचबैक की 10,482 यूनिट्स बेची थीं, जो जुलाई 2020 की तुलना में 10 फीसदी कम है ।
  • हुंडई i20 एलीट जुलाई 2020 में बेची गई 6,344 यूनिट्स के साथ दूसरे स्थान पर है, पिछले साल इसी महीने में बेची गईं 9,012 यूनिट्स से 2,668 या 30 फीसदी नीचे है। बता दें कि हुंडई जल्द ही भारत में नेक्स्ट-जनरेशन i20 को लॉन्च करेगी तो यह इस साल हुई गिरावट संभवतः उसी कारण से है।
  • जनवरी 2020 में लॉन्च हुई अल्ट्रोज़ ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया। टाटा ने पिछले महीने प्रीमियम हैचबैक की 3,636 यूनिट्स बेचीं, जो इस सूची में तीसरा स्थान पर है। दूसरी ओर, टोयोटा ग्लैंज़ा और फॉक्सवैगन पोलो ने क्रमशः बिक्री के मामले में 27 फीसदी और 28 फीसदी साल दर साल गिरावट दर्ज की।
  • टोयोटा ने ग्लैंजा की 1,323 यूनिट्स बेचीं, जबकि फॉक्सवैगन ने जुलाई 2020 में पोलो की 1,146 यूनिट्स बेचीं, जबकि पिछले साल जुलाई में ग्लैंजा और पोलो की क्रमशः 1,804 और 1,600 यूनिट्स की बिक्री हुई थी। इन दोनों के बाद फोर्ड फ्रीस्टाइल का नंबर आता है, फोर्ड ने पिछले महीने फ्रीस्टाइल की 464 यूनिट्स बेचीं, यानी कंपनी ने 16 फीसदी की नकारात्मक वृद्धि दर्ज की क्योंकि फोर्ड ने पिछले साल जुलाई में फ्रीस्टाइल की 550 यूनिट्स बेची थीं।
  • होंडा जल्द ही जैज का बीएस 6-कंप्लेंट वर्जन लॉन्च करना वाली है और इसलिए हैचबैक इस सूची में आखिरी स्थान पर है। बता दें कि जापानी निर्माता ने जुलाई 2019 के महीने में हैचबैक की 719 यूनिट्स बेची थीं।

16 लोगों ने खरीदी 84 लाख की टोयोटा वेलफायर, 3,076 यूनिट्स के साथ ट्राइबर तीसरे स्थान पर

  • एमपीवी सेगमेंट ने हाल के वर्षों में बहुत लोकप्रियता हासिल की है, और जिस सेगमेंट में कम संख्या में प्रोडक्ट उपलब्ध है, वह अब फल-फूल रहा है, अधिक से अधिक निर्माता इस दौड़ में शामिल होना चाहते हैं। सभी निर्माता संयुक्त रूप से पिछले महीने भारतीय बाजार में 21,066 एमपीवी बेचने में कामयाब रहे, जो जुलाई 2019 में बेची गई 20,393 यूनिट्स की तुलना में 3 फीसदी अधिक है।
  • बाजार अभी भी एक आर्थिक मंदी से उबर रहा है, जो इस सूची में सभी एमपीवी की बिक्री संख्या से स्पष्ट है, क्योंकि उन सभी ने बिक्री के मामले में साल-दर-साल नकारात्मक वृद्धि दर्ज की। पिछले महीने देश में सबसे ज्यादा बिकने वाली एमपीवी में अर्टिगा थी, जुलाई 2019 में बेची गई 9,222 यूनिट्स की तुलना में इस साले इसकी 8,504 यूनिट्स बिकीं।
  • बोलेरो इस साल 4,360 यूनिट्स के साथ दूसरे स्थान पर है, जो कि जुलाई 2019 में बिकी 4,446 यूनिट्स की तुलना में 2 फीसदी कम है। टोयोटा इनोवा क्रिस्टा ने 40 फीसदी गिरावट दर्ज की, लेकिन फिर भी यह कामयाब रही और एमपीवी ने 2,927 यूनिट्स के साथ चौथे स्थान पर अपनी जगह बनाई।
  • डटसन गो+ देश में सबसे सस्ती एमपीवी है, लेकिन इससे कार की पॉपुरैलिटी पर ज्यादा असर नहीं पड़ा। कंपनी जुलाई 2020 में केवल 57 यूनिट ही बेच पाई, जो पिछले साल इसी महीने की तुलना में 136 यूनिट कम है। महिंद्रा माराजो ने 98 फीसदी गिरावट दर्ज की, जबकि कंपनी की Xylo अब बाज़ार से डिस्कंटीन्यू हो चुकी है।
  • हालांकि, पिछले वर्ष की तुलना में, उक्त स्थान में रेनो ट्राइबर, मारुति सुजुकी XL6, किआ कार्निवल के साथ-साथ टोयोटा वेलफायर के रूप में कई नए प्रोडक्ट हैं। ट्राइबर ने अपनी लॉन्चिंग के बाद से काफी लोकप्रियता हासिल की, और देश में रेनो के भाग्य को पूरी तरह से बदल दिया है। सब-4 मीटर कार पिछले महीने बाजार में तीसरी सबसे ज्यादा बिकने वाली एमपीवी थी, जिसकी 3,076 यूनिट्स बिकीं।
  • मारुति सुजुकी XL6 और किआ कार्निवल क्रमशः पांचवें और छठे स्थान पर जगह बनाने में कामयाब रहे। जुलाई 2020 में मारुति ने 1,874 XL6s बेचे, जबकि इसी अवधि में किआ ने 232 कार्निवल बेचीं। दूसरी ओर, टोयोटा ने पिछले महीने भारतीय लग्जरी खरीदारों की 16 यूनिट्स वेलफायर बेचीं।

0

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *