कोरोना महामारी को देखते हुए YES बैंक ने शुरू की खास सुविधा, अब घर बैठे खोलें डिजिटल सेविंग्स अकाउंट

  • e-KYC और वीडियो वेरिफिकेशन के जरिए यह अकाउंट खोला जा सकेगा
  • यस बैंक सेविंग अकाउंट पर 6% सालाना तक ब्याज दे रहा है

दैनिक भास्कर

Jun 27, 2020, 08:52 AM IST

नई दिल्ली. कोरोनावायरस महामारी की वजह से लोग घर से निकलने व सार्वजनिक जगहों पर जाने से कतरा रहे हैं। इसी को देखते हुए यस बैंक (YES Bank) ने डिजिटल सेविंग्स अकाउंट को लॉन्च किया है। इससे ग्राहकों को बैंक की ब्रांच जाने, फिजिकल डॉक्यूमेंटेशन या बैंकिंग के लिए किसी व्यक्ति के साथ बातचीत करने की कोई जरूरत नहीं है। e-KYC और वीडियो वेरिफिकेशन के जरिए यह अकाउंट खोला जा सकेगा।

100 से ज्यादा फीचर्स के मिलेगी सुविधा
बैंक के अनुसार यह डिजिटल सेविंग्स अकाउंट वर्चुअल डेबिट कार्ड के साथ आता है जिसकी मदद से ग्राहकों को 100 से ज्यादा फीचर्स मिलते हैं जिनमें ट्रांजैक्शन, फंड ट्रांसफर और ऑनलाइन शॉपिंग शामिल हैं। 18 साल से ज्यादा उम्र का कोई भी व्यक्ति पोर्टल के जरिए डिजिटल सेविंग्स अकाउंट को खोल सकता है।

ऐसे खोलें अकाउंट

  • सबसे पहले येस बैंक की वेब साइट पर जाएं। 
  • यहां आपको सेविंग अकाउंट खोलने का विकल्प दिखेगा।
  • यहां सबसे पहले अपना आधार, पैन, ईमेल आईडी और मोबाइल नंबर को डालें।
  • फिर OTP के साथ डिटेल्स को वैलिडेट करें। 
  • इसके बाद अपनी निजी जानकारी के वेरिफाई करें और अकाउंट से संबंधित जानकारी को डालें।
  • अकाउंट नंबर, कस्टमर आईडी को तुरंत सब्मिट और प्राप्त करें।
  • फिर अकाउंट एक्टिवेट करने के लिए यस बैंक स्टाफ से आए वीडियो कॉल में ऑरिजनल डॉक्यूमेंट्स को दिखाएं। 
  • इसके बाद ट्रांजैक्शन शुरू कर दें।

सेविंग अकाउंट पर मिल रहा 6 फीसदी का ब्याज
इस अकाउंट पर 6 फीसदी सालाना ब्याज दर मिलता है. हालांकि, इसके लिए 10 लाख से इससे ज्यादा डिपॉजिट अनिवार्य है। 1 से 10 लाख तक जमा पर 5 फीसदी और 1 लाख से काम जमा पर 4 फीसदी ब्याज दिया जा रहा है। सेविंग्स अकाउंट के लिए 10,000 रुपये का औसत मासिक बैंलेंस बनाए रखने की जरूरत होती है। कॉरपोरेट सैलरी अकाउंट के लिए कोई औसत मासिक बैलेंस बनाए रखने की जरूरत नहीं है।

डिजिटल वॉलेट युवा-पे लॉन्च किया
यस बैंक ने हाल ही में कॉन्टैक्टलेस भुगतान को बढ़ावा देने के लिए एक नया डिजिटल वॉलेट लॉन्च किया। बैंक ने इस डिजिटल वॉलेट को ‘युवा-पे’ नाम दिया है। बैंक ने यह डिजिटल वॉलेट UDMA टेक्नोलॉजी के साथ भागीदारी में लॉन्च किया है। बैंक की ओर से जारी बयान के मुताबिक, इस ऐप के जरिए नगर निगम बिल, हाउस टैक्स, वाटर टैक्स, बिजली बिल, एलपीजी बुकिंग, डीटीएच रिचार्ज, मोबाइल फोन बिल, लाइसेंस फीस, सोलर पार्क फी, बिल्डिंग सेंक्शन फीस आदि का भुगतान किया जा सकता है।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *